लाल किले की प्राचीर से प्रधाममंत्री का संबोधन पीएम मोदी ने कहा मैने गांधी का सपना पूरा करने के लिए खुद को समर्पित किया है

0
53
PM meeting the youngsters at Red Fort, on the occasion of 76th Independence Day, in Delhi on August 15, 2022.

इस्तुति पाठक दिल्ली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नौवीं बार लाल किले की प्राचीर से स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जिसके बाद उनके ऊपर हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा हुई आजादी के अमृत महोत्सव पर 75 वें स्वतंत्रता दिवस की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को बधाई दी और लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित भी किया उन्होंने कहा कि न सिर्फ हिंदुस्तान का हर कोना, लेकिन दुनिया के हर कोने में आज किसी न किसी रूप में भारतीयों के द्वारा या भारत के प्रति अपार प्रेम रखने वाला विश्व के हर कोने में ये हमारा तिरंगा आन-बान-शान के साथ लहरा रहा है

पीएम मोदी ने वीर सपूतों को किया याद
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा हिंदुस्तान का कोई भी कौन है ऐसा नहीं है जहां देशवासियों ने सैंकड़ों साल तक गुलामी की जंग न लड़ी हो , जीवन न खपाया हो यातनाएं न झेली हो, आहुति न दी हो. आज हम सब देशवासियों के लिए ऐसे हर महापुरुष (महामत्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस, भीम राव अंबेडकर, वीर सावरकर) को हर त्यागी और बलिदानी को नमन करने का समय है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद करते हुए कहा की मैंने महात्मा गांधी के सपने को पूरा करने की कोशिश की है उनका एक भारत का सपना मैं पूरा करना चाहता हूं उनके सपने के लिए मैं खुद को समर्पित करता हूं और उनके बताए हुए रास्ते पर चलने की कोशिश कर रहा हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आजादी की जंग लड़ने वाले नेहरू, राजेंद्र प्रसाद, श्याम प्रसाद मुखर्जी, जयप्रकाश नारायण, राम मनोहर लोहिया, नानाजी देशमुख जैसे अनगिनत ऐसे महापुरुषों को आज नमन करने का अवसर है. पीएम ने कहा कि हमारे स्वतंतत्रता सेनानियों ने अंग्रेजों की नींव हिला दी थी

अंग्रेजी हुकूमत हिलाने वाले क्रांतिवीरों किया नमन
पीएम ने आगे कहा कि देश कृतज्ञ है मंगल पांडे, तात्या टोपे, भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, चंद्रशेखर आजाद, असफाक उल्ला खां, राम प्रसाद बिस्मिल ऐसे अनगिनत ऐसे हमारे क्रांति वीरों ने अंग्रेजों की हुकूमत की नींव हिला दी थी. प्रधानमंत्री ने कहा कि आज का ये दिवस ऐतिहासिक है. एक पूण्य पड़ाव, एक नई राह, एक नए संकल्प और नए सामर्थ्य के साथ कदम बढ़ाने का ये शुभ अवसर है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here