आम आदमी सेना का आरोप : दिल्ली सरकार और स्क्रैप माफिया ने वाहन स्क्रैपिंग नीति का उल्लंघन किया, 5000 वाहन गायब

आम आदमी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने केंद्र सरकार से तत्काल कार्रवाई करने और लापता वाहनों के ठिकाने की जांच करने का आग्रह किया है

0
213

भारत चौहान, प्रभात कुमार राष्ट्रीय अध्यक्ष, आम आदमी सेना ने प्रेस क्लब में प्रेस वार्ता कर दिल्ली सरकार व दिल्ली परिवहन विभाग व कबाड माफिया द्वारा किये जा रहे! एक स्केपिंग घोटाले का पर्दाफाश किया।  प्रभात कुमार का कहना है कि जो स्केपिंग पॉलिसी माननीय प्रधान मंत्री जी द्वारा जनहित में देश के सामने रखी थी उसका दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग एवं कवाड माफिया के द्वारा जमकर गुण्डागर्दी व अवैय उघाई की एवं ” दिल्ली में जबरन घरों के सामने से वाहनों को उठाया !! और सभी वाहनों को दिल्ली से बाहर लेजाकर कर दिया।

प्रभात कुमार का कहना है कि दिल्ली सरकार के परिवहन माफिया ने N. G. T. के नियमों का व केन्द्र सरकार के नोटिफिकेशन को दरकिनार करते हुऐ कबाड माफियों के साथ मिलकर दिल्ली की जनता के साथ गुण्डागर्दी कर आम जनता को जबरन धमका डरा कर दिल्ली सरकार की एन्फोर्समेन्ट टीम का डर दिखा कर सरेआम लोगों के घरों से क्रेन लगाकर गाडियों को उठा लिया गया। जबकि प्रभात कुमार के पास सबूत है कि केन्द्र सरकार व दिल्ली सरकार के बीच जो वार्तालाप हुआ!! उसमें स्पष्ट तौर पर लिखा हुआ कि आप पहले वाहन मालिक को लिखित नोटिस देगें और उसकी जानकारी केंद्र सरकार को देंगें। परन्तु दिल्ली सरकार और कवाड माफिया द्वारा घोटालों को अंजाम देना था इसलिए नियमों की धज्जियाँ उड़ा दी गई और लगभग 5000 वाहन इसकी आड में दिल्ली से गायब कर दिये गये। इसकी जानकारी ना तो दिल्ली सरकार के पास है और ना ही वाहन मालिकों को कोई जानकारी है !! कि उनके वाहन कहां पर है। प्रभात कुमार का कहना है कि दिल्ली सरकार यह जवाब दे कि यह जबरन उठाये गये वाहन आज कहां पर है। क्या यह वाहन किसी राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में शामिल तो नही हो गये।

प्रभात कुमार ने केन्द्र सरकार से अपील की कि वे इसे अपने संज्ञान में तुरन्त लेकर इस कांड में जो भी दोषी अधिकारी (एनफोर्समेन्ट, दिल्ली सरकार अथवा कबाड माफिया) उन्हें तुरन्त गिरफतार करें। श्री प्रभात कुमार राष्ट्रीय अध्यक्ष ने यह भी जानकारी दी कि हम इस विषय पर C.B.I., N.I.A. Police Commissioner, Delhi, Hon’ble Lt. Governor को सभी सबूतों के साथ लिखित में भी देने जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here