बीएस 6 नॉर्म्स के खिलाफ न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगी आम आदमी सेना

सीएनजी रेट्रो फिटमेंट का काम करने वाले 12 लाख लोगो के सामने रोजी रोटी का संकट

0
151

भारत चौहान नई दिल्ली, आम आदमी सेना प्रमुख प्रभात कुमार ने कहा है कि केंद्र सरकार द्वारा बीएस-6 नॉर्म्स केंद्र सरकार द्वारा लागु करने के बाद सीएनजी रेट्रो फिटमेंट का काम करने वाले करीब 12 लाख लोगों के सामने रोजी रोटी का एक भयंकर संकट पैदा हो जाएगा.अकेले दिल्ली में ही इस व्यवसाय से करीब 3 लाख लोग जुड़े हुए हैं जो बेरोजगार होने की कगार पर है.लेकिन पहले से सीएनजी किट लगाने का काम करने वाले मैकेनिक और उनके परिवारों पर काफी हद तक पड़ेगा.आम आदमी सेना प्रमुख प्रभात कुमार ने इस मामले पर सरकार का ध्यान खींचते हुए सरकार से आग्रह किया है कि सरकार इस मामले पर इन लोगों के हितों का ध्यान रखते हुए कोई फैसला ले और इस आदेश को वापिस ले.उन्होंने कहा कि हमने सरकार को कई बार आग्रह किया है और अगर सरकार फिर भी नहीं मानती है तो हम इस मामले को लेकर कोर्ट का दरवाजा भी खटखटायेंगे.क्योनी उनकी आखिरी उम्मीद न्यायालय ही है.उन्होंने कहा कि बीएस-6 नॉर्म्स के लागू होने के बाद सीएनजी गाड़ी खरीदने के लिए ज्यादा पैसा खर्च करना होगा क्योंकि जो किट अभी करीब 40,000 में बाजार से लग जाती है उसी किट को वहां बनाने वाली कंपनी गाड़ियों में लगा कर करीब एक लाख रूपये महंगी गाड़ी कर देती है जिससे आम जनता की जेब पर भी असर पड़ता है. दिल्ली में इस वक्त करीब 22 लाख से ज्यादा सीएनजी वाहन दौड़ रहे हैं और अगर सीएनजी रिट्रोफिटमेंट का कारोबार बंद हो जाता है तो 22 लाख वाहन उपभोक्ताओं को सीएनजी से जुड़े किसी भी काम के लिए कंपनियों का चक्कर लगाना पड़ेगा उन्होंने कहा कि दिल्ली में जितने भी सीएनजी वाहनों में आग लगने की घटनाएं हुई हैं उनमें से अधिकांश वे वाहन थे जिनमें वाहन निर्माता कंपनी कंपनी के द्वारा सीएनजी किट फिट किया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here