स्वच्छता से होगा पर्यटन विकास

0
230

भारत चौहान, पर्यटन विकास मंच की २६ वीं बैठक में स्वच्छता एम्बेसडर श्रीमति तेम्सुतुला इम्सोंग जी मुख्य वक्ता के रूप में जुडीं। मूल रूप से नागालैंड की रहने वाली तेम्सुतुला जी ने बनारस के घाटों पर स्वच्छता की बहुत बड़ी मुहीम चलाई जी तथा अपने काम की वजह से इन्हें प्रधान मंत्री जी का स्नेह मिला। उन्होंने स्वच्छता एवम् पर्यटन विषय पर अपना उद्बोधन रखा। उन्होंने बताया कि अगर आपके पर्यटन स्थल, धार्मिक स्थल, इतिहासिक स्थल स्वच्छ नहीं होंगे तो कोई पर्यटक वहां नहीं आएगा। लोग पर्यटन के लिए साफ एवम् स्वच्छ वातावरण की जगह को ही प्राथमिकता देते हैं। पहले विदेशों अपने देश की तस्वीन एक स्वच्छता की दृष्टि से बिल्कुल भी अच्छी नहीं थी। पर स्वच्छ भारत अभियान ने लोगों के मन में एक नई ईमेज बनाई है।
– पर्यटन स्थलों पर ‘Toilet Mapping’ app बनाकर शौचालयों को लोकेशन डालना चाहिए।
– पर्यटन उद्योग से जुड़े व्यवसाई एवम् लोगों की स्वच्छता के प्रति जवाबदेही तय होने चाहिए।
– स्थानीय लोगों की भागीदारी से ही सिद्धि प्राप्त होगी।
– स्वच्छ भारत से ही स्वच्छ पर्यटन की नींव पड़ेगी।
– नदी, तालाब एवं बांधों कर आस पास के पर्यटन स्थलों पर प्लास्टिक पैकिंग के उत्पाद पूर्णतः प्रतिबंधित हों।

कार्यक्रम में देशभर से प्रतिभागी जुड़े और आदरणीय के अनुभवों के लाभ लिया। विशिष्ट व्यक्तियों में डॉ लाजवंती नायडू, डॉ बरनाली पटवारी, वेंकटेशन दत्तात्रेयन, डॉ पीयूष कमल (बिहार) डॉ जय प्रकाश (तेलंगाना), देवेन्द्र तिवारी, वासुमित्र भारद्वाज, अंशुल डोगरा उपस्थित रहे।कार्यक्रम के संयोजक अंकित अग्रवाल ने सभी मुख्य वक्ता एवम् प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here