मच्छरजनित रोगियों का दबाव बढ़ा, सप्ताहभर में डेंगू के 43 मामले दिल्ली सरकार के दावे बेकार

0
29

ज्ञान प्रकाश नई दिल्ली , राजधानी में मच्छरजनित रोगियों की संख्या की रफ्तार मंद होने का नाम ही नहीं ले रही है। दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) की साप्ताहिक रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान इलाज के लिए विभिन्न अस्पतालों में कुल 142 मामले दर्ज किए गए। इसमें से हलांकि 71 मामले दिल्ली के बाहर के थे जबकि 43 मामले दिल्ली के पाए गए। दिल्ी के मरीजों की संख्या पर यदि गौर किया जाए तो एनडीएमसी में 8, एसडीएमसी में 16 में ईडीएमसी में 19 मामले पाए गए। इस वर्ष इसके साथ ही डेंगू रोगियों की संख्या 1786 दर्ज की चुकी है इसमें से 834 मामले दिल्ली के बाहर पाए गए। वर्ष 2018 में इस दौरान डेंगू पीड़ितों की संख्या 2657 थी, इनमें से 1854 मामले बाहर के थे। वर्ष 2017 में 4645 दर्ज मामलों में से 2331 दिल्ली के बाहर के थे। वहीं वर्ष 2016 में आए 2894 में दर्ज आंकड़ोेंमं से 1660 दिल्ली के बाहर के थे।
मलेरिया के 13 मामले:
एसडीएमसी की साप्ताहिक रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में कुल 13 मामले मलेरिया के पाए गए। इनमें से 6 मामले दिल्ली के बाहर के थे। जो 13 में से 7 मामले दिल्ली थे। इस वर्ष अब तक मलेरिया के कुल दर्ज किए गए 687 मामलों में 387 बाहर के थे। बीते सप्ताह आए 7 मामलों में से एसडीएमसी में 4, एनडीएमसी में 3 मामले दर्ज किए गए। वर्ष 2018 में कुल दर्ज किए गए 471 मामलों में से 317 बाहर के पाए गए थे जबकि वर्ष 2017 में दर्ज 572 मामलों में से 300 बाहर के थे। इसी तरह से वर्ष 2016 में आए 425 मामलों में 26 मामले बाहर के थे।
चिकनगुनिया के 26 मामलें:
बीते सप्ताह राजधानी में चिकनगुनया के कुल दर्ज 26 मामलों में से 9 ऐेसे मामले थे जो दिल्ली के बाहर के थे लेकिन उनका इलाज दिल्ली के अस्पतालों में किया गया। 26 में से जो 17 मामले दिल्ली दर्ज किए गए हैं उनमें एसडीएमसी के 3, एनडीएमसी के 4 अन्य 10 मामले ईडीएमसी के पाए गए। वर्ष 2019 में दर्ज 252 मामलें वर्ष 2018 में 161, वर्ष 2017 में 545 वर्ष 2016 में 5569 मामले दर्ज किए गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here