होम आइसोलेशन में ठीक हुए मरीजों की जुबानी, घर पर रहकर कर सकते हैं इलाज -पर पड़ोसी देखते हैं संदिग्ध नजर से

0
124

भारत चौहान नई दिल्ली, राजधानी में होम आइसोलेशन में रह कर कोरोना से जंग जीत चुके लोगों ने दिल्ली सरकार की टीम की सराहना की है। ठीक हुए लोगों का कहना है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षत में गठित कोविड सर्ववाइर्स टास्क की टीम कम से कम दो बार फोन कर हेल्थ का अपडेट लेती थी। साथ ही जरूरत पड़ने पर घर पर आकर जांच भी करती थी। कोरोना के जीत हासिल करने वाले लोगों का कहना है कि जिन लोगों में लक्षण नहीं दिख रहे हैं या फिर उनमें मामूली लक्षण दिख रहे हैं, ऐसे लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है, ये होम आइसोलेशन में रह कर बड़ी आसानी से ठीक हो सकते हैं।
सर्ववाइवर्स: पड़ोसी का व्यवहार ठीक नहीं:
इन लोगों का कहना है अस्पताल से कोरोना से ठीक होने के बाद जब हम डिस्जार्च होते हैं तब जोखिम हालात में हमारी जान बचाने वाले डाक्टर्स, नर्सिग स्टाफ, पुलिसकर्मी तक हमें तालिया व चॉकलेट देकर विदा करते हैं। लेकिन जब हम घर पहुंचते हैं तब आसपास के लोग हमारे साथ ठीक व्यवहार नहीं करते हैं। उनकी नजर में मानों यह छुआछुत का रोग है। उनकी इस निगेटिविटी (नकारात्मक) सोच को बदलने के लिए हमें अलग से प्रयास करना पड़ रहा है।
अनभुवी सुझाव:
कोरोना मरीज को दिन में गर्म पानी में सेंधा नमक डाल कर कम से कम तीन बार गरारा करना चाहिए। एक से डेढ़ लीटर गर्म पानी पीने के अलावा 4 से 5 लीटर सामान्य पानी भी पीना चाहिए। खाने में हरी सब्जी और फलों का इस्तेमाल करने मरीज की सेहत बड़ी तेजी से सुधरती है और 17 दिन बाद वह होम आइसोलेशन से बाहर आ जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here