देश में कई गुणा बढ सकता है ऑनलाइन गेमिंग का बाजार: विशेषज्ञ

0
448

gyan parkash नयी दिल्ली, उद्योग जगत के विशेषज्ञों का मानना है कि देश में ऑनलाइन गेंिमग (ई-स्पोर्ट्स) का बाजार आने वाले समय में कई गुणा बढने वाला है। उनका कहना है कि उपकरणों के सस्ते होने, डेटा बैंडविथ के बढने तथा ऑनलाइन गेंिमग की स्वीकार्यता विस्तृत होने से यह करियर का बेहतर विकल्प बनता जा रहा है। इंटेल इंडिया के उपाध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक (बिक्री एवं विपणन समूह) प्रकाश माल्या ने कहा, ‘‘भारत में ई-स्पोर्ट्स का बाजार लगातार बड़ा हो रहा है और न केवल खेलने वालों की संख्या बढ रही है बल्कि इसे देखने वालों की संख्या भी बढ रही है। इसके कई कारण हैं जैसे बुनियादी संरचना में सुधार, युवा आबादी की वृद्धि, बढती आय आदि।’’ फिक्की और अन्रेस्ट यंग की एक रिपोर्ट के अनुसार, ऑनलाइन गेंिमग का बाजार 2018 में 49 अरब रुपये का था और इसके 2021 तक बढकर 120 अरब रुपये पर पहुंच जाने का अनुमान है। रिपोर्ट के अनुसार इस बाजार में सालाना 35.40 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान है। वर्ष 2018 में ऑनलाइन गेम खेलने वालों की संख्या करीब 27.80 करेाड़ रहने का भी अनुमान है। हालांकि इस क्षेत्र में मुख्यत: मोबाइल गेंिमग का दबदबा है लेकिन पर्सनल कम्पयूटर के मामले में भी मजबूत वृद्धि का अनुमान है। नॉडविन गेंिमग के प्रबंध निदेशक अक्षत राठी ने कहा कि सरकार से नियामकीय समर्थन तथा गेंिमग को करियर बनाने के प्रति सांस्कृतिक बदलाव से पारिस्थितिकी को बल मिल रहा है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में गेमर होने से इतर कमेंटेटर, इंफ्लूएंसर, कोडर, वॉयस आर्टिस्ट्स जैसे अन्य करियर विकल्प भी सामने आ रहे हैं। इन सबके लिये 50 हजार रुपये से दो लाख रुपये तक के वेतन की पेशकश की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here