बच्चे के वैक्सीनेशन में अब भूलकर भी न करें देर! -कोरोना महामारी काल, मार्च से अगस्त के पहले सप्ताह में 50 फीसद टीकाकरण की गति में गिरावट

0
107

ज्ञानप्रकाश नई दिल्ली,कोरोना महामारी से जूझ रहे राजधानीवासियों के साथ ही नवजात शिशुओं के साथ ही साल भर के मध्य जन्म लेने वाले बच्चों की सेहत पर पड़ रहा है। यह असर दरअसल, कोविड संक्रमण का नहीं है बल्कि जन्म के बाद डेढ साल के मध्य लगाए जाने वाले टीकाकरण पर पड़ रहा है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में डिपार्टमेंट ऑफ आब्स्टिकल एंड ग्यानाकालॉजी यूनिट के प्रो. डा. जेबी शर्मा के अनुसार पैरेंटिंग वैक्सीनेशन की जरूरत को समझना बेहद जरूरी है ताकि बच्चा वैक्सीनेशन का एक शॉट भी मिस न करें। आज के समय और हालात में यह और भी जरूरी हो गया है। कोविड-19 के बाद से पेरेंट्स वैक्सीनेशन के लिए अस्पताल जाने से बच रहे हैं। राजधानी के 657 वैक्सीनेशन सेंटर्स पर 50 फीसद तक मार्च से अगस्त के पहले सप्ताह के दौरान गिरावट दर्ज की गई है।
दिशा निर्देश है सख्त, पर अनदेखी:
वि स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की क्षेत्रीय निदेशक डा. पूनम खैतरपाल के अनुसार, कम से कम 80 मिलियन बच्चे डिप्थीरिया, खसरा और पोलियो जैसी बीमारियों के लिए वैक्सीनेशन नहीं लगवाते हैं। इन टीकों की मदद से बच्चों को जानलेवा बीमारियों से बचाया जा सकता है। इसमें एक अच्छी बात यह है कि अगर आप इनमें से एक वैक्सीनेशन मिस कर देते हैं तो भी बचा जा सकता है। अब जब अनलॉक 1.0 के बाद हम सभी धीरे-धीरे अपनी पुरानी दिनचर्या पर आने लगे हैं तो यह सही समय है कि बच्चे का वैक्सीनेशन कराना जरूरी है।
वैक्सीनेशन जरूरी क्यों:
वैक्सीनेशन कुछ आम और कुछ बेहद गंभीर बीमारियों से सुरक्षित रखने का तरीका है। बच्चों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि वैक्सीनेशन बच्चों में इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है। यही कारण है कि हेल्दी डायट के साथ-साथ बच्चों के लिए वैक्सीनेशन लेना भी जरूरी है जिससे उनका शरीर वायरस और बैक्टीरिया से सुरक्षित रहे।
फिक्स है टाइम टेबल:
बच्चों के लिए वैक्सीनेशन की शुरु आत उनके पैदा होने से भी पहले से शुरू हो जाती है। ऐसी कई महत्वपूर्ण वैक्सीनेशन हैं जो गर्भवती महिला को अपनी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए लेनी चाहिए ताकि वह बच्चे में ट्रांसफर हो सके । इसी के साथ, जन्म के बाद बिना मिस किए कई वैक्सीनेशन हैं जिन्हें लेना बेहद जरूरी है। बच्चे की जरूरत के हिसाब से डॉक्टर की सलाह पर इसे लेते रहना है।
वैक्सीनेशन जरूरी टेंशन नहीं:
बच्चों को इन्फेक्शन लगने का खतरा अधिक होता है और उन्हें सही समय पर पूरी वैक्सीनेशन न लगवाने से आप उन्हें और मुसीबत में डाल रहे हैं। सिंगल-शॉट वैक्सीनेशन आपके बच्चे को कई आम इन्फेक्शन्स जैसे- डिप्थीरिया, पर्टुसिस, टेटनस आदि से बचाता है। वैक्सीनेशन के इतने फायदे हैं कि इसके बाद होने वाली परेशानी इसके सामने बहुत छोटी लगती है। इस डर से बचने के लिए आप अपने विास के डॉक्टर के पास जाएं और यह सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा हमेशा मास्क, ग्लव्स आदि पहने।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here