नीति आयोग के सदस्य डा. वीके पॉल का कहना है कि कोरोना वायरस को लेकर देश अपनी तैयारियों में जुटा हुआ है

0
72

ज्ञान प्रकाश नई दिल्ली, नीति आयोग के सदस्य डा. वीके पॉल का कहना है कि कोरोना वायरस को लेकर देश अपनी तैयारियों में जुटा हुआ है। अभी तक की स्थिति का आंकलन करते हुए तीन महीने का खाका तैयार किया जा रहा है। राज्य और केंद्र मिलकर इस वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। हालांकि इसमें आम जनता का सहयोग सबसे ज्यादा जरूरी है। सरकार योजनाबद्घ तरीके से जरूरतों को पूरा करने में जुटी हुई है। कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशों पर बने मंत्री समूह की निगरानी में ये गाइडलाइन लगभग तैयार है। जल्द ही सभी राज्यों को मिलकर इस पर काम करना होगा। अभी तक देश में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों में से 5 फीसद से भी कम को वेंटिलेटर की जरूरत पड़ रही है। बावजूद इसके केंद्र सरकार करीब एक हजार वेंटिलेटर को खरीदने की तैयारी में है। इसके अलावा राज्यों को भी वेंटिलेटर व आईसीयू सेवाओं पर फोकस करने के आदेश दिए जा चुके हैं।
अगले दो सप्ताह चुनौती ज्यादा:
दरअसल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत में कोरोना वायरस को लेकर स्थिति गंभीर बताई जा रही है। अमेरिका और यूके के चिकित्सीय विशेषज्ञों ने यहां तक दावा किया है कि भारत के लिए अगले दो सप्ताह सबसे ज्यादा गंभीर हैं। वहीं एक अध्ययन में ये भी दावा किया है कि भारत के लिए कोरोनो से जंग अगले कुछ सप्ताह या महीनों तक लड़ी जा सकती है। हालांकि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के वैज्ञानिक इससे साफ इंकार कर चुके हैं। चीफ साइंटिस्ट ड. रमन गंगाखेड़कर के अनुसार भारत अभी भी दुनिया के बाकी देशों की तुलना में काफी बेहतर स्थिति में है। 21 दिन के लक डाउन से काफी हद तक घ्नियंतण्रपाया जा सकेगा। आईसीएमआर के अध्ययन में भी ये साबित हो चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here