मोदी ने संसद में कहा महागठबंधन नहीं महामिलावट

0
212

भारत चौहान ,लोकसभा चुनाव के लिए रण अब पूरी तरह से शुरू हो चुका है. गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला, जिसका जवाब प्रधानमंत्री ने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद के दौरान किया. लोकसभा में दिए गए 100 मिनट के भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 चुनाव की सियासी लकीर खींच दी है. मोदी ने अपने भाषण में विपक्ष के महागठबंधन को महामिलावट करार दिया और कांग्रेस पर हमला करते हुए 55 साल बनाम 55 महीने की तुलना कर डाली.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत तो सरकार के कार्यक्रम गिनाते हुए की, लेकिन बाद में जब उन्होंने रफ्तार पकड़ी तो विपक्ष को तीतर-बीतर कर दिया. मोदी ने भ्रष्टाचार, राफेल, सेना, गरीबी, रोजगार समेत हर मुद्दे पर जवाब दिया. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे को भी शेरो-शायरी और कविताओं के साथ जवाब दिया.

55 साल बनाम 55 महीने

कांग्रेस के नेतृत्व वाली विभिन्न सरकारों के 55 साल के शासनकाल को ‘‘सत्ताभोग के वर्ष’’ और अपनी सरकार के 55 महीने के कार्यकाल को ‘‘सेवाभाव के साल’’ करार देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राफेल विमान सौदे, रोजगार सृजन और भ्रष्टाचार आदि मुद्दों पर विपक्ष के आरोपों पर तीखा पलटवार किया.

लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा,कांग्रेस ने किसानों को बर्बाद किया,कांग्रेस ने सेना को मुश्किल में डाला,कांग्रेस ने बैंकों को बर्बाद कर दिया,कांग्रेस ने देश को बर्बाद कर दिया,कांग्रेस ने रोजगार नहीं मिलने दिया

नरेंद्र मोदी ने इस दौरान अपनी सरकार की उपलब्धियों को बताया, जिसमें जनधन अकाउंट, उज्ज्वला योजना, स्वच्छ भारत, मुद्रा योजना जैसी योजनाओं की तुलना कांग्रेस शासनकाल से की. उन्होंने दावा किया कि अगर जवाहर लाल नेहरू की सरकार इस रफ्तार से काम करती तो देश की आधी मुश्किलें शुरुआती 20 साल में ही दूर हो जातीं.

महागठबंधन नहीं ये महामिलावट है!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाषण के दौरान आक्रामक मूड में थे, ऐसे में उन्होंने विपक्ष के बन रहे महागठबंधन पर तीखा वार किया. उन्होंने इसे महामिलावट घोषित कर डाला. मोदी ने कहा कि देश ने 30 साल तक मिलावट वाली सरकारें देखीं हैं, लेकिन अब जो महामिलावट वाले हैं वो इस तरफ (सत्ता पक्ष) नहीं आने वाले हैं. उन्होंने कहा कि आप लोग कोलकाता में मिल लेंगे, लेकिन केरल या यूपी से ही आपको निकाल दिया गया.

गौरतलब है कि मोदी के भाषण का एक-एक शब्द 2019 लोकसभा चुनाव को मद्देनजर रखते हुए दिया गया. उन्होंने यहां से पूरे देश को मैसेज देना चाहा, इसलिए अपने भाषण में उन्होंने सरकार के काम और विपक्ष के भ्रष्टाचार को खुले तौर पर उजागर किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here