शिक्षा मंत्रालय (एमओई) ने स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2023 के लॉन्च की घोषणा की

26 केंद्रीय मंत्रालय, 6 राज्य मंत्रालय और 4 इंडस्ट्री पार्टनर आएंगे एक साथ

0
246

नई दिल्ली: ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) में शिक्षा मंत्रालय के इनोवेशन सेल ने  अपने छठे संस्करण में स्मार्ट इंडिया हैकथॉन (एसआईएच) 2023 के लॉन्च की घोषणा की। इस अवसर पर उच्च शिक्षा सचिव, श्री के. संजय मूर्ति (आईएएस), एआईसीटीई के चेयरमैन प्रोफेसर टी.जी. सीताराम और वाइस चेयरमैन डॉ. अभय जेरे उपस्थित थे।

उच्च शिक्षा सचिव, श्री के संजय मूर्ति (आईएएस) ने इस वर्ष के हैकथॉन के लिए अपना उत्साह व्यक्त करते हुए कहा, “डॉ. अभय जेरे के नेतृत्व में इनोवेशन सेल हैकथॉन को सफलता पूर्वक आयोजित कर रहा है। इस वर्ष के जी20 प्रेसीडेंसी के दौरान हमें यूनेस्को भारत अफ्रीका हैकथॉन की मेजबानी करने का सम्मान मिला, जिसमें 22 अफ्रीकी देशों की सक्रिय भागीदारी रही। हमारे छात्रों को उस महाद्वीप से संबंधित समस्या विवरणों पर अफ्रीकी देशों की टीमों के साथ काम करने का अवसर मिला। दो सप्ताह पहले, हमने गृह मंत्रालय के साथ साइबर सुरक्षा थीम पर एक कवच हैकथॉन का आयोजन किया था।  इसलिए, ऐसी कई चुनौतियाँ हैं जिनका समाधान एआईसीटीई द्वारा ऐसे हैकथॉन के माध्यम से किया जा सकता है।

एआईसीटीई चेयरमैन प्रो. टी.जी. सीताराम ने भविष्य को आकार देने में इनोवेशन के महत्व पर जोर देते हुए कहा, “भविष्य इनोवेशन(नवाचार) पर आधारित है! देश भर में फैले 7500 से अधिक नवाचार संस्थानों के नेटवर्क के साथ, स्मार्ट इंडिया हैकथॉन प्रतिभागियों को एक अवसर प्रदान करता है कि वे विविध सरकारी निकायों और मंत्रालयों की समस्याओं का समाधान करें।”

इस अवसर पर बोलते हुए, एआईसीटीई वाइस चेयरमैन डॉ. अभय जेरे ने हैकथॉन के विकास पर प्रकाश डालते हुए कहा, “2017 में  स्थापना के बाद से स्मार्ट इंडिया हैकथॉन दुनिया के सबसे व्यापक हैकथॉन और नवाचार प्रतिमान में विकसित हुआ है। जैसे-जैसे हम इसके छठे संस्करण की शुरुआत करेंगे, यह मंच कृषि और स्वास्थ्य तकनीक से लेकर परिवहन तक व्यापक विषयों को शामिल करने के लिए प्रतिबद्ध होगा। यह इसकी अद्वितीय व्यापकता को शानदार ढंग से प्रदर्शित करेगा।”

स्मार्ट इंडिया हैकथॉन (SIH) शिक्षा मंत्रालय के इनोवेशन सेल और ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन(AICTE) का एक संयुक्त प्रयास है। 182 सॉफ्टवेयर स्टेटमेंट और 57 हार्डवेयर चुनौतियों सहित 239 समस्या विवरणों के साथ, इस आयोजन ने 26 केंद्रीय मंत्रालयों, 6 राज्य मंत्रालयों और 4 इंडस्ट्री पार्टनर की भागीदारी सुनिश्चित की है, जिससे एसआईएच 2023 सहयोगात्मक नवाचार का एक सच्चा मंच बन गया है।

इसके अलावा, 2022 में एसआईएच जूनियर संस्करण की सफलता के बाद, जूनियर हैकथॉन का दूसरा संस्करण भी 6वीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों को सशक्त बनाने के लिए लॉन्च किया गया है।  इन युवा इनोवेटर्स को अपनी प्रतिभा दिखाने और विभिन्न विषयों पर आउट-ऑफ-द-बॉक्स ओपन इनोवेशन आइडिया प्रस्तुत करने का अवसर मिलेगा।

एसआईएच 2023 की थीम्स में समाजिक आवश्यकताओं जैसे कृषि, खाद्य प्रौद्योगिकी और ग्रामीण विकास, ब्लॉकचेन और साइबर सुरक्षा, स्वच्छ एवं हरित प्रौद्योगिकी(टेक्नोलॉजी), आपदा प्रबंधन, स्वास्थ्य एवं खेल, विरासत और संस्कृति, मेडटेक/बायोटेक/हेल्थटेक, Miscellaneous, नवीकरणीय/स्थायी ऊर्जा(Renewable / Sustainable Energy), रोबोटिक्स और ड्रोनस्मार्ट स्वचालन, स्मार्ट शिक्षा, स्मार्ट वाहन, परिवहन एवं रसद(Transportation & Logistics), यात्रा पर्यटन व खिलौने आदि पर व्यापक श्रेणी शामिल हैं।

इनके अलावा कुछ रोचक समस्या विवरण भी शामिल हैं, जिनमें न्याय मंत्रालय द्वारा कानूनी रिकॉर्ड के लिए एक ब्लॉकचेन-आधारित ई-वॉल्ट प्रणाली का विकास, पहाड़ी क्षेत्रों में एक मौसमी पैरामीटर और मौसम पैटर्न का विश्लेषण करके क्लाउडबर्स्ट की पहचान के लिए एक पूर्वानुमान प्रणाली से संबंधित वर्तमान चुनौतियों में से एक है (जो विद्युत मंत्रालय द्वारा दिए गए है)। इसके अलावा साइबर सुरक्षा और खतरे के आंकलन क्षेत्र में National Technical Research Organisation (NTRO) द्वारा रैंसमवेयर हमले से होने वाले खतरों को रोकने/कम करने की दिशा में एक रैनसमवेयर रेडीनेस असेसमेंट टूल विकसित करने की चुनौती दी गई है।

सीनियर एसआईएच के लिए आईडिया जमा करने की अंतिम तिथि 30 सितंबर, 2023 है, जबकि जूनियर एसआईएच के लिए यह 30 अक्टूबर, 2023 है। सीनियर एसआईएच और जूनियर एसआईएच के ग्रैंड फिनाले की संभावित तारीख नवंबर 2023 और जनवरी 2024 के पहले सप्ताह में तय की गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here