म्यामां के साथ रिश्तों की मजबूती के लिए भारत का व्यापक दृष्टिकोण: कोविंद

0
440

यंगून (म्यामां), 13 दिसंबर। राष्ट्रपति राम नाथ कोंिवद ने बृहस्पतिवार को कहा कि म्यामां के साथ आर्थिक एवं व्यावसायिक रिश्तों को मजबूत बनाने के लिए भारत ‘बहुस्तरीय दृष्टिकोण’ अपना रहा है। उन्होंने दोनों देशों से एक-दूसरे की क्षमताओं से सीखने और उनके बेहतर इस्तेमाल का आह्वान किया। कोंिवद ’पूर्व में काम करने’ और ‘पड़ोसी पहले’ के सिद्धांतों के तहत म्यामां के साथ उच्च स्तरीय द्विपक्षीय गतिविधियों को जारी रखने के क्रम में यहां आए हुए हैं।

अपनी इस यात्रा के दौरान पांचवें ‘इंटरप्राइज इंडिया शो’ के उद्घाटन के मौके पर उन्होंने यह बात कही। विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि म्यामां और भारत करीबी पड़ोसी हैं और अच्छे मित्र हैं। कोंिवद ने कहा, ‘‘वर्तमान में हमारी व्यापार और निवेश साझेदारी साधारण है। लेकिन हम उसे बढाने के लिए बहुत अधिक प्रतिबद्ध हैं। कारोबार के विस्तार, संयुक्त उद्यम तैयार करने और एक दूसरे की प्रगति एवं विकास में निवेश के लिए हमारे पास कई संभावनाएं हैं।’’ उन्होंने कहा म्यामां आर्थिक बदलाव के लिए प्रयास कर रहा है।

वहीं भारत ने वि की सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था के रूप में खुद को स्थापित किया है। ऐसे में दोनों देशों के पास एक-दूसरे की क्षमताओं को सीखने और उन पर काम करने के अवसर हैं।’’ राष्ट्रपति कोंिवद ने कहा, ‘‘म्यामां के साथ आर्थिक एवं व्यावसायिक रिश्तों को मजबूती देने के लिए हमारा दृष्टिकोण बहुआयामी है। अपनी अवसंरचना संबंधी परियोजनाओं के जरिए हम दोनों देशों के बीच के संपर्क को बढा रहे हैं। सहमति और समझौतों के जरिए हम व्यापार और पर्यटन को बढावा देने के लिए सड़क रास्ते सीमा पार करने में सुविधा उपलब्ध करा रहे हैं।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here