सुपर दीवा अर्वाड २०२२” समारोह का अयोजन का हुआ भव्य आयोजन

0
81

भारत चौहान नई दिल्ली – देश आजादी का अमृत महोत्सव वर्ष माना रहा है ऐसे में आधुनिक युग के महिलाओं के योगदान को कैसे भुलाया जा सकता है।  उद्यमी महिलाओं द्वारा देश के विकास में महत्ती योगदान रहा है. उनके कार्यों को सम्मान देने के लिए द्वारका स्थित होटल रेडिशन ब्लू मे आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में महिला उद्यमियों के सम्मान में सोशल बाइट्स कम्पनी ने शुक्रवार की शाम “सुपर दीवा अर्वाड २०२२” समारोह का अयोजन किया। इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि के तौर पर तारे ज़मीन पे, जुग जुग जियो फिल्म की जानी मानी अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा ने कार्यक्रम का उदघाटन किया। इस अवसर पर विशेष अतिथि के तौर पर सीडब्ल्यूईआई की चेयरपर्सन डॉ शशि सिंह, स्पोर्टस सेलिब्रेटी डॉ रिचा सूद, मोटरस्पोर्ट्स एक्सपर्ट विम्मी सिंह, कारपोरेट एविएशन ट्रेनर अंशु शर्मा, ब्रांड एंड मार्केटिंग एक्सपर्ट अल्पना चौधरी और पॉलिसी रिसर्चर मुक्ता नायक जूरी मेंबर के रूप में उद्योग जगत में महिलाओं के योगदान के बारे में बताया।

जिन उधमियों को सम्मानित किया गया उनमें वृत्ति पठानिया, शालिनी अग्रवाल, डाक्टर जेरीना , परिधि सिंह, बानी सोंधी, सपना नारंग, साक्षी खट्टर, जूही जैन, रेम्या गुप्ता, सीडीआर अमित कुमारी , पूनम सिंह ठाकुर, चन्दा झा, सूर्या अग्रवाल, दीपिका बाली, किरन पठानिया सिंह, श्रेया, नेहा सरन बेंजामिन, अल्पना कुमार, रीता देवी, राशी निझावन, रिचा मुन्जाल, रेनू गुप्ता, डाक्टर दिव्या तंवर, स्वेतिका कुमारी, गुरूप्रीति कौर, बबिता सिंह, कुमकुम, गायत्री पाठक मजूमदार शामिल रही। मैनेजमेंट गुरु कैलाश बिहारी सिंह ने उद्योग जगत में महिलाओं की भागीदारी पर अपने अनुभव शेयर किए। जिन महिला उद्यमियों को सम्मान और पुरस्कार से नवाजा गया उनमें विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 30 महिला उद्यमी शामिल रही
सोशल बाइट्स इवेंट्स एंड पीआर कम्पनी की सीईओ संगीता भगत ने कहा कि आज हम आजादी के 75वें वर्ष को अमृत महोत्सव के रूप मे मना रहे हैं जहां आज महिलाओं की बराबर की भागीदारी देखने को मिल रही है वहीं आज आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में एक आदिवासी समाज से एक महिला को भारत के राष्ट्रपति के रूप चुन कर आना सबसे बड़ा उदाहरण है। उन्होने कहा सुपर दिवा अवार्ड समारोह में सम्मानित महिलाऐं भविष्य में भारत की हर क्षेत्र में प्रेरणा की स्रोत बनेंगी ।

कम्पनी के डारेक्टर प्रमोद कुमार सुमन ने कहा कि हालाकि भारत  एक पुरूष प्रधान देश रहा है लेकिन किसी भी युग में महिलाओं की भागीदारी को कम करके नहीं आंका जा सकता है। जहां आज देश आजादी के अमृत महोत्सव पर भारतीय समाज मे महिलाओं का हर क्षेत्र आगे बढ़कर आना यह भारतीय समाज के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में कंपनी के डायरेक्टर चंदन कुमार, कंसलटेंट शिवानी मेहता और बिजनेस एसोसिएट रवि वर्मा का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here