रैन बसेरे में दोपहर और रात में मिल रहा है खाना, कोई भी खा सकता है, मिड डे मिल का खाना घर पहुंचेगा- अरवविंद केजरीवाल

0
55

भारत चौहान नई दिल्ली, मुख्यमंत्री ने अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस दौरान गरीबों को बहुत मार पड़ रही है। गरीब लोग रोज काम करते थे और खाते थे। उन लोगों को बहुत परेशानी हो रही है। उन लोगों के लिए हमने कई सारे कदम उठाए हैं और आने वाले समय में और भी कदम उठाए जा सकते हैं। हम नहीं चाहते हैं कि एक तरफ आपको कोरोना से बचाएं और दूसरी तरफ आप भूखमरी से मर जाएं। मैने एलान किया था कि 72 लाख लोगों को, हर व्यक्ति को 7.5 किलो गेहूं और चावल मुफ्त दिया जा रहा है। 8.5 बुजुर्गों, विधवाओं और विकलांगों को 4000 से 5000 रुपये पेंशन दें रहे हैं। हमारे जितने भी रैन बसेरें हैं, उनमें दोपहर और रात का भोजन मुफ्त में दिया जा रहा है। किसी को भी खाने की दिक्कत है, तो वह वहां जाकर खा सकता है। मैं समझता हूं कि 72 लाख लोगों के घर में राशन पहुंच जाएगा तो किसी को खाने की दिक्कत होनी चाहिए। यह राशन 30 मार्च तक दुकानों में पहुंच जाएगा। सभी लोग अपना कार्ड दिखा कर राशन ले सकते हैं। 8.5 लोगों के खाते में 7 अप्रैल तक 4000 से 5000 हजार पेंशन पहुंच जाएगी। इसके अलावा हमें मिड-डे-मील और आंगनबाड़ी हमें बंद करनी पड़ी थी। अब हम उन बच्चों के घर खाने के पैकेट भेजेंगे। इस कदम से लगभग सभी गरीब लोगों को मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here