बीमारियों से निजात, दीर्घायु होने के लिये जीवनशैली में बदलाव की खातिर देशव्यापी अभियान चलेगा -एंटी एजिंग पर आधारित देश का पहला सम्मेलन शुरू

0
178

भारत चौहान नई दिल्ली, लगातार बढती बीमारियों के प्रकोप से निजात दिलाने और दीर्घायु जीवन के लिये जीवनशैली में सुधार की खातिर पूरे देश में स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्रालय के सहयोग से जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। चिकित्सा क्षेत्र के अग्रणी भागीदारों के समूह ‘स्मार्ट भारत’ की अध्यक्ष प्रीती मल्होत्रा ने जीवनशैली में बदलाव के लिये देश में आयोजित पहले अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में कहा कि मधुमेह से लेकर कैंसर तक, तमाम गंभीर बीमारियों के लिये गलत जीवनशैली जिम्मेदार है।
उन्होंने कहा कि भारत में इस समस्या के तेजी से प्रसार को देखते हुए जीवनशैली में सुधार के लिये सरकार और निजी क्षेत्र की भागीदारी से देशव्यापी जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। मल्होत्रा ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय और आयुष मंत्रालय के साथ चिकित्सा क्षेत्र के निजी पक्षकार दिल्ली के बाद देश के सभी छोटे बड़े शहरों में ‘वेलनेस कांफ्रेंस’ का आयोजन कर लोगों को बताएंगे कि खान-पान और रहन-सहन के तौर तरीकों में मामूली बदलाव से स्वास्थ्य पर कितना गंभीर प्रभाव पड़ता है, जिसका नतीजा मधुमेह से लेकर कैंसर जैसी गंभीर बीमारियां हैं। दक्षिणी दिल्ली स्थित हयात होटल के कन्वेंशन हाल में आयोजित एंटी एजिंग थीम विषयक इस दो दिवसीय देश के पहले सम्मेलन में भारत सहित विभिन्न देशों के चिकित्सकों ने गलत जीवन शैली से जुड़े रोगों के प्रभावों पर चर्चा की। इस दौरान शिकागो विविद्यालय के डा. ब्रियेन डिलेनी ने कहा कि जीवनशैली में बदलाव जनित रोगों का अल्पविकसित चिकित्सा सुविधाओं वाले भारत जैसे विकासशील देशों में व्यापक दुष्प्रभाव हुआ है। इसे रोकने में सरकार और निजी क्षेत्र द्वारा शुरू किए जाने वाले सघन जागरूकता अभियान की प्रभावी भूमिका रहेगी। इसके पहले सम्मेलन की थीम को ध्यान में रखते हुए स्मार्ट ग्रूप के संस्थापक वीके मोदी ने सभी दर्शकों को एक वीडियो कांफ्रेंस के जरिए संबोधित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here