मजबूरी डाक्टर्स की, ताकि बचा सके मरीजों की जान! -ऐसे रोगियों की कोरोना जांच जिनमें कोविड के लक्षण नहीं

0
146

ज्ञानप्रकाश नई दिल्ली, मौसमी बीमारियों का इलाज कराने हॉस्पिटल पहुंच रहे रोगियों का डाक्टर्स ऐसे मरीजों की भी महामारी कोरोना टेस्ट कराने को मजबूर हैं जिनमें कोविड-19 के लक्षण नहीं है, लेकिन उनका कहना है कि उनकी जान बचानी है तो कोरोना का टेस्ट किसी भी बीमारी का इलाज प्रारंभ करने से पहले जरूरी है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक डा. रणदीप गुलेरिया के अनुसार दिल्ली में हर दिन 1000 से 1500 के मध्य कोरोना पॉजिटिव मामले आ रहे हैं। लेकिन इसके इत्तर मौसमी बीमारियों के इससे दो गुना मामले भी तेजी से आ रहे हैं। अभी हमारे देश में कोरोना का पीक नहीं आया है। यानी यदि अभी भी हम सभी लोग अपनी तरफ से पूरा प्रयास करें तो कोरोना संक्रमण को भयानक रूप लेने से रोक सकते हैं। इसके लिए जरूरी है सभी का किसी भी रोग का इलाज प्रारंभ करने से पहले एंटीजेन या फिर जरूरी हो तो आरटी पीसीआर टेस्टिंग जरूरी है।
अतिरिक्त जांच जरूरी क्यों:
बरसात के मौसम में अलग-अलग तरह के फ्लू, डेंगू, मलेरिया, निमोनिया, चिकनगुनिया जैसे रोग फैलते ही हैं। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते हालात कहीं अधिक गंभीर हैं। इस स्थिति में डॉक्टर्स के पास जो पेशेंट्स मौसमू फ्लू के कारण पहुंच रहें हैं, डॉक्टर्स को उनका भी कोरोना टेस्ट कराना पड़ रहा है। क्योंकि इन फ्लू और कोरोना के लक्षण इतने अधिक मिलते-जुलते हैं कि मरीज की प्रारंभिक जांच के दौरान इस बात का अंतर करना मुश्किल होता है कि व्यक्ति को मौसमी फ्लू है या कोरोना संक्रमण।
चिंताजनक स्थिति:
डा. गुलेरिया के अनुसार यदि कोई व्यक्ति डेंगू के संक्रमण के चलते हॉस्पिटल में आया है। लेकिन अभी तक उसकी कोई जांच नहीं हुई है तो पहले तो हमें डेंगू कंफर्म करने के लिए उसकी जांच करनी होगी। साथ ही कोरोना वायरस की जांच भी करानी होगी। डेंगू शरीर को पूरी तरह कमजोर कर देनेवाला बुखार है। उस पर यदि रोगी को कोरोना संक्रमण के कारण सांस लेने में भी दिक्कत होने लगे तो उसके जीवन के लिए खतरा हो सकता है। डेंगू के साथ यदि कोरोना भी हुआ तो स्थिति और अधिक विकट हो सकती है। पेशेंट की जान को किसी भी तरह के जोखिम में नहीं डाल सकते। इसलिए उसकी सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए भी हमें कोरोना का अतिरिक्त टेस्ट करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here